Wednesday, September 02, 2015

दुकानदार और कर्मचारी यूनिफार्म पहनेंगे

सिंहस्थ 2016 (12)


सिंहस्थ 2016 में कुछ अनोखी चीजें होने वाली हैं। मेला क्षेत्र में सभी दुकानदार और उनके कर्मचारी यूनिफार्म में नजर आएंगे। जिला प्रशासन और मेला आयोजक इस बारे में एक मत है। दुकानदारों और कर्मचारियों को यूनिफार्म पहनने की अनिवार्यता के पीछे यह तर्क है कि इससे पुलिस और प्रशासनिक कर्मचारी और अधिकारियों को उन्हें पहचानने में सुविधा होगी। वे श्रद्धालुओं से अलग दिखेंगे और किसी भी मामले में उनसे मदद लेना या उन्हें मदद देना आसान होगा। मेले को सफलतापूर्वक आयोजित करने के जो दिशा-निर्देश तैयार किए गए हैं, उसमें दुकानदारों और कर्मचारियों की भूमिका भी प्रमुख होगी। 

सिंहस्थ मेले में मेला क्षेत्र में लगी सभी होटलों, डेयरी की दुकानों किराना और नमकीन की दुकानों पर इस तरह की यूनिफार्म अनिवार्य होगी। यह भी तैयारी है कि क्षिप्रा के किनारे खाने-पीने का सामान बेचने वाले सभी ठेले और गुमटी वालों को मेले के दौरान वहां से हटाया जाएगा, ताकि भारी भीड़-भाड़ में खाद्य पदार्थों की शुद्धता बनी रहे और खाने के अवशेष यहां-वहां न बिखरे पड़े हो। मेला प्रशासन की कोशिश तो यह भी है कि मेला क्षेत्र में लगी अस्थायी दुकानें एक जैसे रंग से पुती हुई हो। अभी दुकानों और यूनिफार्म के रंग के बारे में निर्णय लेना बाकी है। प्रशासन अभी सभी व्यापारिक संगठनों से बातचीत कर रहा है और इसके बाद ही यह रंग तय किया जाएगा। प्रशासन को लगता है कि इससे सिंहस्थ की रौनक अलग नजर आएगी और कर्मचारियों में भी भागीदारी की भावना जागृत होगी। 


उज्जैन में सिंहस्थ में आने वाले श्रद्धालओं को जानकारी देने के लिए पूरे उज्जैन और आसपास के इलाकों में जानकारी देने वाले होर्डिंग्स लगाने की योजना है। ये होर्डिंग्स श्रद्धालुओं को जानकारी तो देंगे ही, उनके ज्ञान को बढ़ाएंगे और मनोरंजन भी करेंगे। इन होर्डिंग्स पर सिंहस्थ की तस्वीरों और जानकारी के अलावा कार्टून भी होंगे। बेहतरीन होर्डिंग्स के लिए होर्डिंग बनाने वाली संस्थाओं के बीच प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। 

आकाशवाणी की तरफ से सिंहस्थ के दौरान विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जाने वाला है। इस बारे में आकाशवाणी के अतिरिक्त महानिदेशक राजशेखर व्यास दिल्ली से आकर आयोजन की रुपरेखा मना चुके हैं। आकाशवाणी के ये कार्यक्रम उज्जैन में विभिन्न स्थानों पर ध्वनि विस्तारक यंत्रों से भी सुनाए जाएंगे। 

इसी बीच सिंहस्थ को ग्लोबल इवेंट बनाने के लिए यूएसए, यूके, यूरोप, इंडोनेशिया, फिजी, मोरिशस आदि देशों में प्रचारात्मक गतिविधियां आयोजित करने की तैयारी चल रही है। मध्यप्रदेश पर्यटन विकास निगम को इसकी जिम्मेदारी दी गई है। इस दिशा में पहला आयोजन 2 से 5 नवंबर के बीच लंदन में होने वाले वर्ल्ड ट्रेवल मार्केट में होगा। इसकी तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। मध्यप्रदेश सरकार की कोशिश है कि अंतरराष्ट्रीय सेमिनारों में भारतीय सांस्कृतिक प्रतिनिधियों को भेजकर सिंहस्थ के प्रति जागरुकता बनाई जाए। 

जर्मनी के बरलिम में होने वाले अंतरराष्ट्रीय पर्यटन मेले में भी मध्यप्रदेश पर्यटन विकास निगम सिंहस्थ को लेकर ब्रांडिंग करेगा। यह आयोजन 9 से 13 मार्च को होने वाला है। इसके अलावा भारत के विभिन्न नगरों में भी सिंहस्थ को लेकर आयोजन होने वाले हैं। इन आयोजनों का उद्देश्य सिंहस्थ के बारे में प्रचार करना तो है ही, मध्यप्रदेश पर्यटन को भी बढ़ावा देना हैं। इस कड़ी में पहला आयोजन नागपुर में 14 सितंबर को, पुणे में 10 अक्टूबर को, सूरत में 20 नवंबर, मुंबई में 11 दिसंबर, हैदराबाद में 15 जनवरी 2016 और अहमदाबाद में 12 फरवरी 2016 को इस तरह के आयोजन होंगे। 
--प्रकाश हिन्दुस्तानी
Post a Comment